खेल सुविधाओं को विकसित करने का काम निरन्तर जारी-मुख्यमंत्री

37
Yogi

गोरखपुर, 28 जनवरी (वेबवार्ता)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को वीरबहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में 36.54 करोड़ की 17 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। जिसमें 24.98 करोड़ की 08 परियोजनाओं का लोकार्पण और 11.56 करोड़ की 09 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि खिलाड़ी जितना उर्जावान, उतना ही अनुशासित होता है। उन्होंने स्पोर्ट्स कॉलेज के छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की हैं जिसका नतीजा है कि प्रदेश के खिलाड़ी राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन कर पदक अर्जित प्रदेश व देश का नाम रौशन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों की समस्याओं का निराकरण प्रमुखता के आधार पर किया जा रहा है क्योंकि सुविधा के अभाव में खिलाड़ी अपनी क्षमता का प्रदर्शन भरपूर नहीं कर पाते है, इसलिए खेल सुविधाओं को विकसित करने की दिशा में निरन्तर कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा ओलम्पिक गेम्स में प्रतिभाग व पदक विजेता खिलाड़ियों को प्रोत्साहन व पुरस्कार की धनराशि दी जाती है। जिसके अन्तर्गत स्वर्ण पदक मिलने पर 6 करोड़, रजत पदक पर 04 करोड़, कांस्य पदक दो करोड़ की पुरस्कार राशि दी जाती है। इसी प्रकार कॉमन वेल्थ गेम्स में पदक विजेता खिलाड़ियों को स्वर्ण पदक पर 50 लाख, रजत पदक पर 30 लाख, कांस्य पदक पर 15 लाख का प्रोत्साहन व पुरस्कार राशि दिया जाता है।

credit google
 

मुख्यमंत्री ने कहा कि 24 जनवरी को प्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विभिन्न खेलों के एक-एक खिलाड़ियों को प्रदेश का सर्वोच्च पुरस्कार पुरूष वर्ग में लक्ष्मण पुरस्कार एवं महिला वर्ग में रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार से सम्मानित किया था। इसके अन्तर्गत अलंकृत होने वाले खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र, लक्ष्मी बाई की कांस्य प्रतिमा तथा तीन लाख 11 हजार रुपेय की धनराशि प्रदान की गयी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलों को विकसित करने के लिए राजस्व एवं खेल विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि हर गांव में खेल का मैदान स्थापित हो।। जिससे बच्चे पढ़ाई के साथ साथ अच्छे खिलाड़ी भी बने। उन्होंने कहा कि किसी भी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में पदक प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को राजपत्रित अधिकारी के रूप नियुक्ति देने तथा खेल कोटे के रिक्तियों को तत्काल प्रभाव से भरे जाने की कार्यवाही के निर्देश दिये गये हैं। खेलकूद युवा कल्याण एवं कौशल विकास मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि खेलों को विकसित करना प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है, खेल का वातावरण बने तथा आधुनिक सुविधाएं प्रदान कर उसे निरन्तर विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है।

इन परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास लोकार्पण परियोजनाओं में आबकारी भवन, पुलिस विभाग में क्राइम ब्रान्च ऑफस, वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में एस्ट्रो टर्फ हॉकी मैदान तथा कुश्ती हाल, राजकीय महिला पालीटेक्निक में सीसी इन्टरलाकिंग टाइल्स, सदर तहसील में आवासीय भवन का निर्माण कार्य, सुभाष भवन में मेस, टॉयलेट, सीवरेज, कामन रूम का जीर्णोद्धार कार्य तथा गीडा सेक्टर 5 न्यू गोरखपुर में आवासीय योजना में पांच नग पार्क का निर्माण कार्य शामिल हैं। इसी प्रकार शिलान्यास की 09 परियोजनाओं में शहीद स्मारक डोहरिया कला के सौन्दर्यीकरण, कैम्पियरगंज में ग्राम बरगदही स्थित शिव मंदिर के पर्यटन विकास का कार्य, सन्त रविदास मंदिर अलवापुर के सौन्दर्यीकरण का कार्य, कैम्पियरगंज के ग्राम कल्याणपुर में बैसही देवी मंदिर के सौन्दर्यीकरण का कार्य, कैम्पियरगंज के ग्राम सुम्भाखोर में समय माता मंदिर एंव पोखरे के सौन्दर्यीकरण का कार्य, तहसील बासगांव स्थित ग्राम तिघरा में तालाब के सौन्दर्यीकरण आदि का कार्य, भरोहिया शिव मंदिर कैम्पियरगंज, मण्डलीय कारागार में पं. राम प्रसाद बिस्मिल शहीद स्मारक के सौन्दर्यीकरण एवं पर्यटन विकास कार्य तथा शहीद स्मारक चौरी चौरा में पर्यटन विकास एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य शामिल हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here