रारंभिक बचपन एवं शिक्षा विकास कार्यशाला का किया गया आयोजन

13
Education

सोनीपत, 02 फरवरी (राजेश आहूजा)। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देशन में स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद हरियाणा की ओर से राज्य स्तर पर प्रारंभिक बचपन एवं शिक्षा विकास कार्यशाला का आयोजन जिला रोहतक के सर छोटू राम धर्मशाला में किया गया। इस राज्य स्तरीय प्रशिक्षण में 11 जिलों के जेबीटी, एबीआरसी, बीआरपी एवं विशेष आवश्यकता वाले अध्यापकों को शामिल किया गया।

राज्य स्तर पर सोनीपत जिले से एबीआरसी मोनिका दहिया, बीआरपी कांता, विशेष आवश्यकता अध्यापक सुरेन, बबीता एवं पूजा को इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए चयनित किया गया।कार्यशाला में रोहतक यूनिवर्सिटी के अनुभवी प्रोफेसरों द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। मनोवैज्ञानिक शिक्षा किस प्रकार बालक के जीवन में परिवर्तन ला सकती हैं यह सब इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में सिखाया गया।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में 0 से 6 साल के बच्चों के शारीरिक,बौद्धिक, भाषायी, आध्यात्मिक एवं सामाजिक विकास हेतू किस प्रकार व्यवहार करना चाहिए सिखाया गया। प्रशिक्षण में पूर्व प्राथमिक शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से अवगत कराया गया। इस प्रशिक्षण में तैयार किए गए प्रशिक्षक अब अपने-अपने जिलों में आंगनवाड़ी वर्कस को प्रशिक्षित करेंगे और पूर्व प्राथमिक शिक्षा स्तर में सुधार लाने का प्रयास करेंगे।

इस कार्यशाला में समग्र शिक्षा अभियान विभाग हरियाणा द्वारा बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले भागीदारो को प्रथम, द्वितीय, तृतीय पुरस्कारों से सम्मानित किया जाना था।सोनीपत से एबीआरसी मोनिका दहिया ने राज्य स्तर पर इस कार्यशाला में प्रथम स्थान प्राप्त कर सोनीपत का प्रतिनिधित्व किया। द्वितीय स्थान पर भी सोनीपत से ही विशेष आवश्यकता अध्यापक श्रीमती पूजा रही। कार्यशाला से सकारात्मक अनुभव को प्राप्त किया गया।जल्द ही जिला स्तर पर आंगनवाड़ी वर्कर्स को प्रशिक्षण देने का कार्यक्रम जिला परियोजना संयोजक सोनीपत एवं महिला एवं बाल विकास विभाग सोनीपत के निर्देशन में शुरू किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here