भाविप गोविन्द शाखा ने मनाई स्वामी विवेकानंद जयंती

14
Swami Vivekanand Jayanti

सोनीपत, 12 जनवरी (राजेश आहूजा)। भारत विकास परिषद् गोविन्द शाखा सोनीपत ने आज स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन के अवसर पर विवेकानन्द चौंक सोनीपत पर कार्यक्रम आयोजित किया। भारत विकास परिषद् के जिला अध्यक्ष वाई के त्यागी ने बताया कि विवेकानंद चौंक की साफ-सफाई व धुलाई की तथा स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

वाई के त्यागी ने बताया कि स्वामी विवेकानंद जी का जन्म 12 जनवरी 1863 में हुआ था और 1893 में उन्होंने शिकागो में आयोजित विश्व धर्म संसद में भारतीय संस्कृति व परम्परा का पक्ष रखा जिसकी पूरे विश्व भर में प्रसंशा की गई। सन् 1902 में 39 वर्ष की अल्पायु में स्वामी विवेकानंद जी का देहांत हो गया। आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि नगर निगम सोनीपत के ज्वाइंट कमिश्नर शम्भु नाथ राठी थे।

शम्भु नाथ ने अपने उदबोधन में कहा कि स्वामी विवेकानंद युवा आईकोन है तथा युवाओं के लिए प्ररेणा स्त्रोत है उन्होंने कहा कि युवा होने का मतलब केवल छोटी आयु से ही नहीं है बल्कि उत्साह व जोश से भी है और हम सभी को उत्साह व जोश के साथ समाज के लिए उपकारी व विकासात्मक गतिविधियों को करना चाहिए। ज्वाइंट कमिश्नर ने स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित किए। शाखा अध्यक्ष संजय सिंगला ने बताया कि स्वामी विवेकानंद जी का विश्वास था कि आध्यात्मिक ज्ञान व भारतीय दर्शन के बिना विश्व अनाथ हो जाएगा।

इस अवसर पर भाविप जिला अध्यक्ष श्री वाई के त्यागी, शाखा अध्यक्ष श्री संजय सिंगला, शाखा सचिव श्री राजेश गर्ग, सहसचिव श्री शशीकांत भारद्वाज, अमरजीत दलाल, सुरेन्द्र मदान, अशोक खत्री, जगत सिंह, रविन्द्र सरोहा, देविंद्र सूरा, सतीश माथुर, परमानन्द बत्रा, मोहन सिंह मनोचा, लाल सिंह, आनन्द, नरेंद्र भुटानी आदि उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here