रीलंका के पुलिस प्रमुख ने कहा – हम राष्ट्रपति के आदेश पर काम कर रहे

15
sri_lankan

कोलंबो, 08 नवम्बर (वेबवार्ता)। श्रीलंका के पुलिस प्रमुख पुजित जयसुंदरा का कहना है कि वह राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना से आदेश ले रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह इस स्थिति में नहीं हैं कि बर्खास्त किए गए प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के कानून और व्यवस्था मंत्री से आदेश ले सकें।

अमेरिकी मध्यावधि चुनाव 2018 : ट्रंप को झटका, निचले सदन में डेमोक्रेट्स को बहुमत

पुलिस महानिरीक्षक जयसुंदरा उस पत्र का जवाब दे रहे थे जो उन्हें विक्रमसिंघे सरकार के कानून और व्यवस्था मंत्री रंजीत मद्दुमा बंदारा ने भेजा था। मद्दुमा ने 26 अक्टूबर से पहले कार्यरत सभी मंत्रियों को पुलिस की सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए थे।

जयसुंदरा ने कहा कि मंत्रियों को सुरक्षा राष्ट्रपति सिरिसेना की सिफारिश पर ही प्रदान की जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसी मंत्री या अन्य अधिकारी के अनुरोध पर इस तरह की सुरक्षा नहीं दी जा सकती।

राष्ट्रपति सिरिसेना ने 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री पद से विक्रमसिंघे को बर्खास्त कर दिया था और उनकी जगह महिंदा राजपक्षे को प्रधानमंत्री नियुक्त कर दिया था, जिससे देश में संवैधानिक संकट उत्पन्न हो गया।
संसद के स्पीकर कारू जयसूर्या ने सिरिसेना के इस कदम की आलोचना करते हुए सोमवार को कहा कि जब तक राजपक्षे सदन में बहुमत साबित नहीं कर देते, वह उन्हें प्रधानमंत्री के तौर पर मान्यता नहीं देंगे। इसके बाद ही मद्दुमा बंदारा ने जयसुंदरा को पत्र लिखा था।
विक्रमसिंघे के खेमे के कई सांसदों ने भी पुलिस प्रमुख से यह कहते हुए सुरक्षा मुहैया कराने का अनुरोध किया है कि वे अब भी सरकार के मंत्री हैं। 225 सदस्यीय सदन में राजपक्षे को बहुमत साबित करने के लिए 113 सीटों की जरूरत है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here