डिटर्जेंट ब्रांड एरियल ने फिल्म कैप्टन मार्वल की विशेष स्क्रीनिंग के लिए की पीवीआर के साथ साझेदारी

19
Special Screening of Captain Marvel at PVR

नई दिल्ली, 08 मार्च (वेबवार्ता)। महिला दिवस के मौके पर पी एंड जी के प्रमुख डिटर्जेंट ब्रांड एरियल ने फिल्म कैप्टन मार्वल की एक विशेष स्क्रीनिंग की मेजबानी के लिए पीवीआर के साथ साझेदारी की। एरियल का नवीनतम अभियान Sons #ShareTheLoad घर के कार्यों के लिए #ShareTheLoad पर बेटों की आवश्यकता पर जोर देता है। यह साझेदारी सभी पुरुषों (बेटों और पतियों) को सुपर हीरो मूवी-कैप्टन मार्वल के सुपरमॉम और सुपरवाइव्स का बेहतर साथ देने के लिए प्रोत्साहित करती है, क्योंकि #ShareTheLoad के तहत वे घर के काम को एक साथ करेंगे। कैप्टन मार्वल, मार्वल कॉमिक्स के चरित्र कैरोल दान्वर पर आधारित वर्ष 2019 की महिला सुपरहीरो फिल्म है।

Ariel-Event-In-Delhi

लोकप्रिय टेलीविजन अभिनेताओं और रियल लाइफ कपल-रवि दुबे, सरगुन मेहता के साथ रवि की मॉम सुधा दुबे, पीवीआर दिल्ली स्थित सेलेक्ट सिटी मॉल में कैप्टन मार्वल की विशेष स्क्रीनिंग में मौजूद थीं और यहां उन्होंने उपभोक्ताओं, ब्लॉगर्स और मीडिया से भी बातचीत की। उन्होंने रिश्ते में लैंगिक समानता और घर में एक समान होने की आवश्यकता पर जोर दिया। सरगुन और रवि ने रवि की माँ सुधा को छोटी उम्र में उन्हें कपड़े धोने और खाना पकाने जैसे घरेलू कामों का महत्व बताने के लिए भी धन्यवाद दिया, जिससे वे आज एक सुपर कपल बन गए, क्योंकि आज वे #ShareTheLoad करते हैं।

मशहूर अभिनेत्री सरगुन मेहता ने कहा कि रवि एक बेहतर पार्टनर हैं, और वे उनकी जरूरतों और आवश्यकताओं का ख्याल रखने के साथ ही हमेशा मेरे लिए उपलब्ध रहते हैं। घर हो या कार्यस्थल, उनमें स्वाभाविक समानता है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय वे अपनी मॉम सुधा को देना चाहेंगी,साथ ही रिश्ते में समानता का विश्वास रखने वाले बेटे के लिए भ उनका धन्यवाद करती हूं। मेरी इच्छा है कि सभी पुरुष न केवल महिला दिवस पर, बल्कि हर दिन समानता और #ShareTheLoad प्रदर्शित कर सकते हैं।

Ariel-Event-In-Delhi

रवि दुबे ने कहा कि यह पहली बार है जब वे अपनीं सुपरवुमन-सरगुन और अपनी माँ दोनों के साथ एक इवेंट में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने खुद को रोमांचित महसूस किया और इसके लिए एरियल के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि सरगुन और माँ दोनों का उनके जीवन पर गहरा प्रभाव रहा है। उन्होंने कहा-मैं अपनी असली सुपरविमेन माँ को मुझे पहले ही #ShareTheLoad सिखाने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। और इसके बाद सरगुन आईं। सरगुन मेरे लिए परफेक्ट पार्टनर रही हैं, और मैं हर दिन उनके लिए ऐसा ही बनने की कोशिश करता हूं। एक समान भागीदार और #Sharingtheload होना एक डिफ़ॉल्ट सेटिंग है, क्योंकि यह हमारा (दोनों का) लोड है!

रवि की माँ सुधा दुबे ने कहा कि मुझे अपने बच्चों रवि और सरगुन पर बहुत गर्व है! जिस तरह से उन्होंने अपने कॅरियर और व्यक्तिगत जीवन को सफलतापूर्वक संतुलित किया है वह एक जोड़े के रूप में उनके बोहतर समीकरण को बताता है। मैंने यह देखा है कि चाहे वह घर का प्रबंधन हो, वित्त प्रबंधन हो या फिर एक-दूसरे के माता-पिता का ख्याल रखने का,वे अपनी जिम्मेदारियों को साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि उनका बेटा सरगुन के बराबर का साथी साबित हो रहा है। माता-पिता के तौर पर अगली पीढ़ी को एक समान पीढ़ी के रूप में ऊपर उठाने की जिम्मेदारी हमारी है। सुधा दुबे ने कहा कि वे सभी माता-पिता को अगली पीढ़ी को #ShareTheLoad की शिक्षा देने के लिए प्रोत्साहित करेंगी और जब वे बड़े होंगे तो उन्हें अपनी पत्नियों के साथ सफल और खुश देखकर (जैसे आज मैं हूं! ) खुशी महसूस करुंगी।

इस कार्यक्रम में एरियल ने पुरुषों को एक खास अंदाज में अपने सुपरवुमन के लिए व्यक्तिगत संदेश रिकॉर्ड करने के लिए आमंत्रित किया, जिसे एरियल द्वारा अपनी ओर से उन्हें भेजा जाएगा। कपड़े धोने जैसे घरेलू कामों को करने वाले पुरुषों को और सामान्य बनाने के लिए एरियल ने दिल्ली और मुंबई के पीवीआर सिनेमाघरों में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इसके तहत दोनों शहरों में एरियल के #MyCaptainMarvelous ऑनलाइन-प्रतियोगिता के विजेताओं, ब्लॉगर्स और अन्य उत्साही लोगों के लिए एक विशेष स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है। इस मौके पर दर्शक के तौर पर उपस्थित पुरुषों को कपड़े धोने का तरीका भी सिखाया गया था, ताकि वे वापस घर आकर प्रतिदिन भार साझा कर सकें।

एरियल वर्ष 2015 से ही अपने पुरस्कार विजेता अभियान #ShareTheLoad के साथ घरों के भीतर असमानता की वास्तविकता का पता लगा रहा है। रवि और सरगुन आज घरों और बदलते समय के दौरान असमानता पर व्यक्तिगत बातचीत और व्यक्तिगत किस्सों को सामने ला रहे हैं। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि एक तरफ जहां आज ज्यादातर पुरुष पहले से अधिक भार साझा कर रहे हैं, वहीं हम अभी भी एक समान भविष्य की आदर्श स्थिति से कई कदम दूर हैं।

#ShareTheLoad का नया जारी संस्करण घरेलू असमानता की दिशा में एक और प्रासंगिक सवाल उठाता है कि, क्या हम अपने बेटों को सिखा रहे हैं, औऱ हम अपनी बेटियों को क्या सिखा रहे हैं? यह फिल्म, आज की पीढ़ी की माताओं से बराबरी की पीढ़ी को बढ़ाने का आग्रह करती है, जिसे माता-पिता, नवविवाहित जोड़ों औऱ अभियान से प्रभावित होने वाले लोगों के साथ ही पहले ही पूरे भारत में दर्शकों से जबरदस्त समर्थन और प्रशंसा भी मिल चुकी है। 24 जनवरी 2019 को रिलीज़ होने वाली फिल्म ने 1 महीने में 25 मिलियन व्यूज बटोरे, और यह तो अभी शुरुआत है! एरियल ने घरों के भीतर असमानता के खिलाफ आंदोलन का चेहरा बनकर कपड़े धोने की इस बातचीत को जारी रखा है, क्योंकि एरियल के साथ, कोई भी सर्वश्रेष्ठ परिणाम प्राप्त कर सकता है, और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन कपड़े धोने का काम करता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here