सीता मईया का मंदिर रामयुग की सबसे बड़ी पहचान

10
Sri lenka

-योगेश कुमार सोनी-

किसी भी धर्म को लेकर केवल क्यास पर या अपने बुजुर्गौं द्वारा बताया गया या यूं भी कह सकते हैं कि धर्म गुरुओं से ही जानकारी मिलती है। लेकिन कई बार ऐसी चीजें सामने आ जाती हैं जिससे उस काल का पता चलता है।

हाल ही में हेमंत तिवारी की अध्यक्षता में इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट के तहत 16 सदस्य भारतीय पत्रकारों का डेलीगेट श्री लंका होकर आया है जिसमें कई ऐतिहासिक व अन्य कई तमाम उपलब्धियां दिखाई व बताई गई। जिसमें से हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण श्री लंका के नुवर एलिया जिला स्थित सीता मां का मंदिर है। इस जगह पर रावण ने सीता मईया को कैद कर लिया था।

जैसा कि हम इस विषय में रामायण में देखते व सुनते आये हैं। इसके बाद हनुमान जी वहां उनके छुडाने आए थे। हनुमान जी के पद चिन्ह आज भी वहां हैं। इस बात को विश्व की तमाम एजेंसियों ने प्रमाणिकता दी हैं। इस ऐतिहासिक स्थल को देखने के लिए विश्वभर से लोग आते हैं। दुनिया इस बात को चमत्कार भी मानती है।
इस घटना से एक बात और भी तय होता जाती है कुछ अन्य धर्म के लोग सनातम (हिंदू) धर्म को ज्यादा पुराना या उसका इतिहास नही मानते तो यह उन लोगों के लिए आँखें खोलने या जानकारी बढ़ाने के लिए सबसे बड़ा सजीव उदाहरण भी माना जाता है।
वहां के पुजारी शिवराज शर्मा ने हमारे लिए आरती का आयोजन किया व बताया कि यहां रोजाना कई देशो से सैंकडों लोग आते हैं लेकिन जब कोई भारतीय आता है तो वह बहुत भावुक सा हो जाता है। कुछ लोगों की आँखों से तो आंसु भी निकल जाते हैं इसके सिवाय लगभग हर कोई जय बजरगं बली और जय श्रीराम के जोर जोर से नारे लगाता है। पूरे विश्व मे से कोई भी हिंदु आता है तो यहां आरती जरुर करता है।

Yogesh-Soni

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here