भारत पर भारी पड़ा पड़ा मैक्सवेल, आस्ट्रेलिया ने किया क्लीन स्वीप

10
India v Australia - T20I: Game 2
BANGALORE, INDIA - FEBRUARY 27: The Australian team celebrate after they defeated India to win the series during game two of the T20I Series between India and Australia at M. Chinnaswamy Stadium on February 27, 2019 in Bangalore, India. (Photo by Robert Cianflone/Getty Images)

बेंगलुरू, 28 फरवरी (वेबवार्ता)। ग्लेन मैक्सवेल ने अपने आक्रामक तेवरों का जबर्दस्त नजारा पेश करके करियर का तीसरा शतक जड़ा और विराट कोहली के आकर्षक अर्धशतक पर पानी फेरा जिससे आस्ट्रेलिया ने दूसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को यहां भारत को सात विकेट से हराकर दो मैचों की श्रृंखला में क्लीनस्वीप किया। भारत ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर चार विकेट पर 190 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में आस्ट्रेलिया ने 19.4 ओवर में तीन विकेट पर 194 रन बनाकर कोहली का घरेलू सरजमीं पर सभी प्रारूपों की श्रृंखलाओं में अजेय रहने के रिकार्ड पर विराम लगाया।

कोहली की कप्तानी में भारत ने सभी प्रारूपों में पिछली 15 श्रृंखलाओं में से 14 में जीत दर्ज की थी जबकि एक ड्रा रही थी। केएल राहुल (26 गेंदों पर 47) से मिली अच्छी शुरुआत को कोहली और धोनी ने बखूबी आगे बढ़ाया। कोहली ने 38 गेंदों पर दो चौकों और छह छक्कों की मदद से नाबाद 72 रन बनाये जबकि धोनी की 23 गेंद पर खेली गयी 40 रन की पारी में तीन चौके और तीन छक्के शामिल हैं। राहुल ने अपनी पारी में तीन चौके और चार छक्के लगाये थे। कोहली और धोनी ने चौथे विकेट के लिये 100 रन जोड़े। मैक्सवेल ने उनके प्रयासों पर पानी फेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी। पिछले मैच में अर्धशतक जड़ने वाले इस बल्लेबाज ने 55 गेंदों पर नाबाद 113 रन बनाये जिसमें सात चौके और नौ छक्के शामिल हैं। उन्होंने डी आर्शी शार्ट (28 गेंद पर 40) के साथ तीसरे विकेट के लिये 73 और पीटर हैंड्सकांब के साथ चौथे विकेट के लिये 99 रन की अटूट साझेदारी की।

India v Australia - T20I: Game 2

इसमें हैंडसकांब का योगदान नाबाद 20 रन था। भारत को सिद्धार्थ कौल की अनुभवहीनता महंगी पड़ी जिन्होंने डेथ ओवरों में मैक्सवेल को फुलटास गेंदें करके रन लुटाये। जसप्रीत बुमराह प्रभावी रहे लेकिन भारत को लगातार दूसरे मैच में डेथ ओवरों में उनके अदद साथी की कमी खली। आस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही और एक समय उसका स्कोर दो विकेट पर 22 रन था। कोहली ने विजय शंकर (38 रन देकर दो विकेट) से गेंदबाजी का आगाज कराया और अगले ओवर में उनके स्थान पर कौल को गेंद सौंपी जिन्होंने मार्कस स्टोइनिस (सात) की गिल्लियां बिखेरी। शंकर छोर बदलकर गेंदबाजी करने आये और कप्तान आरोन फिंच (आठ) को आउट करने में सफल रहे। शार्ट और मैक्सवेल ने टीम को इन झटकों से उबारा। मैक्सवेल ने बुमराह पर छक्का जड़कर शुरुआत की। शार्ट ने इस बीच उनके सहयोगी की भूमिका बखूबी निभायी। शंकर ने अपने आखिरी ओवर में शार्ट को कवर पर कैच कराकर यह साझेदारी तोड़ी।

मैक्सवेल भारत की तरफ से लगे छक्कों का अकेले जवाब देने के मूड में दिख रहे थे। उन्होंने कृणाल पंड्या पर लांग आफ क्षेत्र में लंबा छक्का जड़ने के बाद अगले ओवर में युजवेंद्र चहल की दो गेंदों को छह रन के लिये भेजा। आस्ट्रेलिया को जब चार ओवर में 44 रन की दरकार थी तब भारत का दारोमदार डेथ ओवरों के विशेषज्ञ बुमराह पर टिका था। मैक्सवेल ने उन पर दो चौके लगाये और फिर अगले ओवर में कौल की अनुभवहीनता का फायदा उठाकर दो छक्कों की मदद से 18 रन बटोरे। बुमराह ने 19वें ओवर में पांच रन दिये लेकिन कौल अंतिम ओवर में नौ रन का बचाव नहीं कर पाये। इससे पहले राहुल ने भारत को अच्छी शुरुआत दिलायी लेकिन रोहित शर्मा की जगह टीम में लिये गये शिखर धवन शुरू से रन बनाने के लिये जूझते रहे। अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे राहुल ने जॉय रिचर्डसन पर लगातार दो छक्के जड़ने के बाद अगले ओवर में पैट कमिन्स को भी यही सबक सिखाया लेकिन नाथन कूल्टर नाइल की धीमी गेंद को थर्ड मैन पर खेलने के प्रयास में उन्होंने रिचर्डसन को आसान कैच थमाया और इस तरह से अर्धशतक से चूक गये। धवन 24 गेंदों पर 14 रन बनाकर पवेलियन लौटे हालांकि उनका आउट होना विवादास्पद रहा क्योंकि रीप्ले से भी लग रहा था कि स्टोइनिस के कैच लेने से पहले गेंद ने जमीन स्पर्श की थी।

पाकिस्तान की मुश्किलें और बढ़ीं, चीन ने भी नहीं दिया मदद का भरोसा

तीसरा अंपायर पूरी तरह से संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने बल्लेबाज को आउट दिया। जैसन बेहरनडॉर्फ ने ऋषभ पंत (छह गेंद पर एक रन) का सीमा रेखा पर बेहतरीन कैच लपककर इस युवा बल्लेबाज को आते ही पवेलियन की राह दिखायी। धोनी को पिछले मैच में धीमी बल्लेबाजी के कारण आलोचना झेलनी पड़ी थी और आज उन्होंने शुरू से आक्रामक तेवर दिखाये। शार्ट पर मिडविकेट पर लगाया गया उनका छक्का इसका सबूत था, लेकिन वह कोहली थे जो आईपीएल के अपने घरेलू मैदान पर छक्कों की बरसात करके लाये। कोहली ने रिचर्डसन की गेंद लांग आफ पर छक्के के लिये भेजकर शुरुआत की तथा कूल्टर नाइल के अगले ओवर में मिडविकेट, एक्स्ट्रा कवर और स्क्वायर लेग पर लगातार तीन छक्के लगाये। धोनी और कोहली ने इससे टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपने छक्कों की संख्या 50 के पार पहुंचायी। कोहली ने 29 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। धोनी तो मूड में थे ही। शार्ट जब दूसरा स्पैल करने के लिये आये तो उन्होंने इस चाइनामैन स्पिनर पर लांग आन और मिडविकेट पर दो गगनदायी छक्के और एक चौका लगाया। उन्होंने अंतिम ओवर में हवा में लहराता कैच थमाया लेकिन तब तक वह अपना काम कर चुके थे। कोहली ने छक्के से पारी का अंत किया जबकि दिनेश कार्तिक आठ रन बनाकर नाबाद रहे। अब इन दोनों टीमों के बीच पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला खेली जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here